ALL राष्ट्रीय धार्मिक सामाजिक खेल
श्रीमहाकालेश्‍वर मंदिर के अन्‍नक्षेत्र में खाद्यान्‍न सामग्री दान की गयी
January 6, 2020 • SANJAY JOSHIY • धार्मिक


 
उज्जैन 06 जनवरी 2020। श्रीमहाकालेश्‍वर मंदिर प्रबंध समिति द्वारा संचालित श्रीमहाकालेश्‍वर नि:शुल्‍क अन्‍नक्षेत्र में मंदिर प्रबंध समिति  के सदस्‍य दीपक मित्‍तल की प्रेरणा से सुश्री तारामती गुप्‍ता निवासी द्वारा 300 किलो आटा, 200 किलो चावल, 200 किलो तुवर दाल, 45 किलो शुद्ध देशी घी और 200 किलो शक्‍कर दान की गई। इसके अतिरिक्‍त गुप्‍त दान में 50 किलो रवा, 40 किलो मुंगफली दाना, 30 किलो पीसी मिर्ची, 10 किलों पीसी धनिया व 25 किलो नमक भी दान में प्राप्‍त हुआ हैं।
 
प्रतिदिन 1500 से 1600 भक्‍त ग्रहण करते है भोजन प्रसादी..

श्रीमहाकालेश्‍वर नि:शुल्‍क अन्‍नक्षेत्र के प्रभारी रमेश निम्‍बालकर ने बताया कि अन्‍नक्षेत्र में प्रतिदिन लगभग 1500 से 1600 भक्‍त भोजन प्रसादी ग्रहण करते है। यह संख्‍या पर्वों के दौरान 3000 से 3500 तक हो जाती है। प्रतिदिन के भोजन में लगभग 300 किलो आटा, 40 से 45 किलो तुवर दाल, 100  किलो चावल आदि की खपत होती है। श्रीमहाकालेश्‍वर नि:शुल्‍क अन्‍नक्षेत्र प्रात: 11 बजे से रात्रि 9 बजे तक संचालित होता हैं। श्रीमहाकालेश्‍वर भगवान के दर्शन के उपरान्‍त श्रद्धालु मंदिर के निर्गम मार्ग पर स्थित अन्‍नक्षेत्र के काउन्‍टर से भोजन पर्ची प्राप्‍त कर श्री बडा गणेश मंदिर के सामने स्थित अन्‍नक्षेत्र तथा उसके पास ही विस्‍तारित अन्‍नक्षेत्र में भोजन प्रसादी ग्रहण करते है और मंदिर की व्‍यवस्‍थाओं से प्रभावित होकर दान भी करते हैं। हिन्‍दू धर्म में मान्‍यता है कि अन्‍नदान से बडा कोई भी दान नही होता हैं। इस मान्‍यता को दृष्टिगत रखते हुए दूरदराज से आने वाले श्रद्धालु अन्‍नक्षेत्र में अन्‍नदान या उसके निमित्‍य सहयोग राशि भी देते हैं। जिससे अन्‍नक्षेत्र की व्‍यवस्‍था को संचालित करने में सहयोग मिलता है। श्रीमहाकालेश्‍वर मंदिर प्रबंध समिति द्वारा श्रीमहाकालेश्‍वर मंदिर में नि:शुल्‍क अन्‍नक्षेत्र वर्ष 2004 से संचालित किया जा रहा है। नि:शुल्‍क अन्‍नक्षेत्र एवं मंदिर की लड्डू प्रसाद निर्माण इकाई को भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एस.एस.एस.ए.आई.) नई दिल्‍ली द्वारा भारत के धार्मिक स्‍थानों में दर्शनार्थियों को स्‍वच्‍छ व सुरक्षित भोग प्रसाद उपलब्‍ध कराने हेतु श्रीमहाकालेश्‍वर मंदिर प्रबंध समिति को ‘’सेफ भोग प्‍लेस‘’ का प्रमाण पत्र भी प्राप्‍त हैं। जो संभवत: 12 ज्‍योर्तिलिंग व मध्‍यप्रदेश में पहला धार्मिक स्‍थल हैं। उल्लेखनीय है कि श्रीमहाकालेश्‍वर मंदिर प्रबंध समिति द्वारा संचालित नि:शुल्‍क अन्‍नक्षेत्र में दानदाता अपने आप्‍तजनों के जन्मदिवस, पुण्‍यतिथि, विवाह वर्षगाठ आदि अवसरों पर एक दिन के भोजन प्रसाद हेतु रू. 25 हजार की राशि देकर भोजन प्रसादी की व्‍यवस्‍था करवा सकते हैं।साथ ही नि:शुल्‍क अन्‍नक्षेत्र में भक्‍त अपनी इच्‍छानुसार भोजन सामग्री या राशि भी दान कर सकते हैं। मंदिर प्रबंध समिति द्वारा प्रत्‍येक माह की 1 व 15 तारिख को मालवा के प्रसिद्ध दाल, बाफले, कढ़ी, लड्डू-चूरमा, चावल, सब्‍जी अब श्रद्धालुओं को भी भोजन प्रसाद के रूप में परोसा जा रहा हैं। जिससे आने वाले दर्शनार्थी भी मालवा के प्रमुख भोजन को जाने और हमेशा अपनी स्‍मृति में रखें।