ALL राष्ट्रीय धार्मिक सामाजिक खेल
नारी का सभ्य श्रृंगार उसका रक्षा कवच : डॉ वसंतविजयजी म.सा.
February 28, 2020 • SANJAY JOSHIY • धार्मिक

राष्ट्रसंतश्री ने उज्जैन की विभिन्न महिला मंडलों को दी आदर्श नारी बनने की सीख

 उज्जैन। सांसारिक जीवन में घर परिवार की सुख-शांति की धुरी कही जाने वाली नारी को वर्तमान दौर में व्यवहारिक जगत में श्रेष्ठता की जरूरत है। निश्चित ही प्रतिस्पर्धा के इस युग में आवश्यकता के अनुसार कामनाएं बढ़ गई है, लेकिन विकास के साथ एक आदर्श नारी बनने के लिए विवेक रूपी ज्ञान की भी आवश्यकता है। यह कहा श्री कृष्णगिरी पार्श्वपद्मावती शक्तिपीठाधीपति, राष्ट्रसंत, सर्वधर्म दिवाकर, मंत्र शिरोमणि डॉ वसंतविजयजी महाराज साहेब ने। वे यहां नृसिंह घाट स्थित हरियाणा सेवा आश्रम में शहर की विभिन्न सामाजिक, धार्मिक क्षेत्र में सक्रिय सेवा कार्यों से जुड़ी महिला मंडल की पदाधिकारियों-सदस्याओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने जीवन में व्यक्ति के नाम की महिमा, रंगों के महत्व, दिशाओं के बोध, सुख-दुख व गुण-अवगुण, आहार विज्ञान सहित श्रेष्ठतम बनने के विभिन्न सूत्र भी बताए। डॉ वसंतविजयजी ने मय उदाहरण के अनेक प्रसंगों के साथ एक महिला के सभ्य श्रृंगार को उसके जीवन की प्रगति की धरोहर बताते हुए रक्षा कवच भी बताया। संतश्रीजी ने कहा कि सेवा  मनुष्य धर्म का कर्तव्य है तथा सकारात्मक सोच व श्रेष्ठता उचित सर्वोत्तम पद दिलाती है। इस अवसर पर श्री कृष्णगिरी भक्त मंडल उज्जैन की महिला इकाई की प्रमिला तल्लेरा ने सभी का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि एक मार्च को राष्ट्रसंत श्रीजी के मुखारविंद से प्रदान किए जाने वाले आशीर्वादी महा मांगलिक को लेकर शहरवासियों में जबरदस्त उत्साह देखा जा रहा है। रविवार दोपहर 1:00 बजे से शिवांजलि गार्डन में संतश्रीजी द्वारा यहां पहली बार व्यापक स्तर पर सर्वधर्म समाज के लोगों के लिए लोककल्याणकारी, अति दिव्य एवं चमत्कारिक महामांगलिक प्रदान की जाएगी। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में उज्जैन सहित इंदौर, भोपाल, राजगढ़, जावरा, धार, पिथमपुर, उन्हेल, नागदा आदि विभिन्न शहर-कस्बों के गुरुभक्त कार्यक्रम में शामिल होंगे। प्रमिला ने बताया कि महिला मंडल की विभिन्न सदस्याओं में सासा जैन, कांता बांठिया, सोनू फागणिया, अंशु बाफ़ना, संगीता बांठिया, प्रीति गोयल, परिधि दाता, ममता देवी, अंजू सुराना व सुशीला कटारिया सहित अनेक महिलाएं मौजूद रहीं। सभी का आभार ज्योति चोरड़िया ने जताया। उन्होंने बताया कार्यक्रम का सीधा प्रसारण पारस चैनल पर भी होगा।