ALL राष्ट्रीय धार्मिक सामाजिक खेल
लोकसंस्कृति के विद्वान रतनू को दिल्ली में मिला कला एवं संस्कृति संरक्षण सम्मान
February 2, 2020 • SANJAY JOSHIY • राष्ट्रीय

बीकानेर/नई दिल्ली। भारत के कला एवं संस्कृति ट्रस्ट नई दिल्ली द्वारा राजस्थान के जाने-माने डिंगल कवि और राजस्थानी लोक संस्कृति के विद्वान साहित्यकार बीकानेर निवासी भंवर पृथ्वीराज रतनू को कला एवं संस्कृति संरक्षण सम्मान से सम्मानित किया गया है। सम्मान स्वरूप रतनू का माल्यार्पण, शॉल ओढ़ाकर ममेंटो प्रदान किया गया। 11000 का चैक भी सम्मान राशि स्वरूप दिया गया है। ट्रस्ट के वाइस चेयरमैन शूलपाणी सिंह ने बताया कि प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी देश की विशिष्ट क्षेत्रों में महारत हासिल प्रतिभाओं को ट्रस्ट द्वारा नई दिल्ली के इंडिया हैबिटेट सेंटर के स्टीवन सभागार में यह विशिष्ट सम्मान रतनू को प्रदान किया गया। उनके अलावा 10 महानुभावों को भी यह विशिष्ट सम्मान दिया गया। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम के अतिथि केद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, केद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विवि महाराष्ट्र के वीसी प्रो रजनीश कुमार शुक्ला, नागालैंड के शिक्षा मंत्री तमजेन इमना अलोंग, उत्तर प्रदेश के मंत्री डॉ सतीश चंद्र द्विवेदी, भारतीय रेलवे के आरपीएफ के डीजी अरुण कुमार, पूर्व सांसद राजा मानवेन्द्र सिंह, सहित मौजूद थे। ट्रस्ट के डॉ ललित भसीन ने बताया कि कार्यक्रम में ही जानी मानी बॉलीवुड अभिनेत्री हेमा मालिनी को भी भारत के संगीत रत्न सम्मान से विभूषित किया गया। इससे पूर्व अतिथियों ने दीप रोशन कर समारोह का शुभारंभ किया। वहीं गणेश वंदना की गई। विदित रहे कि राजस्थान के बीकानेर निवासी भंवर पृथ्वी राज रतनू की साहित्यिक, कला एवं संस्कृति तथा समाज सेवा के क्षेत्र में लम्बी सेवाओं को देखते हुए ट्रस्ट की राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने उन्हें कला एवं संस्कृति संरक्षण सम्मान प्रदान किया है।