ALL राष्ट्रीय धार्मिक सामाजिक खेल
कमिश्नर व आईजी ने महाशिवरात्रि पर्व पर की व्यवस्थाओं सम्बधी में बैठक ली, रावत ने दी विस्तृत जानकारी
February 17, 2020 • SANJAY JOSHIY • धार्मिक

कलेक्टर मिश्रा की चेतावनी, लापरवाही नहीं होगी बर्दाश्त..

 उज्जैन। महाशिवरात्रि पर्व 21 फरवरी को मनाया जायेगा। वर्ष भर के इस प्रमुख पर्व पर जिला प्रशासन, मन्दिर प्रशासन तथा पुलिस प्रशासन के द्वारा उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर में दर्शन हेतु विविध प्रकार से व्यापक तैयारियां की जा रही हैं। व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में कमिश्नर अजीत कुमार एवं आईजी राकेश गुप्ता ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ महाकाल प्रवचन हाल में बैठक लेकर ड्यूटी देने वाले अधिकारी-कर्मचारियों को निर्देश दिये हैं कि जिन-जिन विभागों को व्यवस्थाएं सौंपी है, वे समय-सीमा में पूर्ण करना सुनिश्चित करें। कमिश्नर अजीत कुमार ने नगर निगम के अधिकारी को निर्देश दिये हैं कि श्रद्धालुओं की बुनियादी सुविधाओं पेयजल व शौचालय आदि का विशेष ध्यान दिया जाये। इसी तरह स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि वे सौंपे गये निर्धारित स्थलों पर स्वास्थ्य सम्बन्धी चिकित्सकीय सुविधा मय एम्बुलेंस, दवाएं आदि की समुचित व्यवस्था सुचारू रूप से रखें। इसी प्रकार अजीत कुमार ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि महाशिवरात्रि पर्व पर निर्बाध रूप से विद्युत सप्लाई की जाये। विद्युत बन्द होने के तुरन्त बाद वैकल्पिक व्यवस्था सुनिश्चित की जाये, ताकि विद्युत सप्लाई निरन्तर बनी रहे। लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को तय समय-सीमा में बेरिकेटिंग आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करने की तथा खाद्य एवं औषधि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि वे महाशिवरात्रि पर्व के समाप्ति अन्त तक महाकाल मन्दिर के आसपास लगी समस्त दुकानों पर विक्रय होने वाली खाद्य सामग्री आदि की समय-समय पर जांच करते रहे। इसके साथ ही महापर्व पर लगने वाले स्टालों पर फरियाली खिचड़ी आदि वितरण की भी चैकिंग की जाये। इस अवसर पर आईजी राकेश गुप्ता ने भी उपस्थित अधिकारियों-कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। कलेक्टर शशांक मिश्र ने सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों-कर्मचारियों, जिनकी ड्यूटी महाशिवरात्रि पर्व के दौरान लगाई है, वे अपने निर्धारित स्थल पर ड्यूटी दें और अपने निर्धारित स्थल पर से इधर-उधर न हों, इस बात का विशेष ध्यान दिया जाये। उन्होंने सख्ती से यह भी कहा कि साथ ही अपने-अपने मोबाइल भी इस दौरान चालू रहें। मिश्रा ने निर्देशों का पालन नहीं करने वाले अधिकारी-कर्मचारियों के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। बैठक में अपर कलेक्टर एवं श्रीमहाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति के प्रशासक  एसएस रावत ने विभिन्न विभागों को अलग-अलग सौंपी गई दर्शन व्यवस्था के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि दर्शनार्थियों एवं शीघ्र दर्शन, पासधारी, मीडिया, वीआईपी आदि की अलग-अलग प्रवेश की व्यवस्था रहेगी। जूता स्टेण्ड हरसिद्धि चौराहे पर काउंटर बनाये गये हैं। जूता-चप्पल दर्शनार्थी हरसिद्धि चौराहे काउंटर पर टोकन एवं काउंटर नम्बर प्राप्त कर उतारेंगे। यह व्यवस्था उज्जैन विकास प्राधिकरण के जिम्मे रहेगी। हरसिद्धि चौराहे से कपड़े के बैग में जूते-चप्पल रखकर ई-रिक्शा से निर्गम द्वार के समीप बनाये गये काउंटर पर टोकन एवं काउंटर नम्बर बताने पर जूते-चप्पल उपलब्ध कराये जायेंगे। मीडिया का प्रवेश बेगमबाग वाले रूट से माधव सेवा न्यास के पीछे बने पार्किंग पर अपने वाहन रखकर शंख चौराहा के पास निर्माल्य गेट फेसेलिटी सेन्टर के समीप बने गेट से प्रवेश कर बाल हनुमान मन्दिर के समीप से होते हुए रैम्प से होते हुए कंट्रोल रूम के समीप बनाये गये मीडिया सेन्टर पर पहुंचेंगे। बैठक में पुलिस अधीक्षक सचिन अतुलकर, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी डॉ.आरपी तिवारी, अपर कलेक्टर श्रीमती बिदिशा मुखर्जी, जीएस डाबर, पुलिस प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी, जिला प्रशासन के अधिकारी तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी आदि उपस्थित थे।