ALL राष्ट्रीय धार्मिक सामाजिक खेल
जीवदया व जनकल्याण दिवस के रुप में मनाया सुकनमुनिजी का जन्मोत्सव, बेंगलुरु के गुरुभक्त भी हुए शामिल
December 27, 2019 • SANJAY JOSHIY • धार्मिक

बेंगलुरु/बगड़ीनगर । पाली जिले के बगड़ीनगर कस्बे के तेरापंथ भवन में श्रमण संघ के प्रवर्तक श्रीसुकनमुनिजी म.सा. का 73 वां जन्मोत्सव जीवदया एवं जनकल्याण दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर उपस्थित साधु-संतों ने मुनिश्री की लंबी उम्र की कामना की और जैन समाज के लोगों ने गौशाला में दान राशि देने की घोषणा की। श्री एसएस जैन संघ बगड़ीनगर के तत्वाधान में आयोजित इस कार्यक्रम में सुकनमुनिजी म.सा. ने अपने उद्बोधन में कहा कि मरुधर केसरी का बगड़ी से बहुत लगाव था और उनके मन में जीवों के प्रति बहुत दया थी, इस कारण गोशाला का निर्माण कराया गया। उन्होंने जैन समाज के लोगों से अपील की कि वह व्यापार के चलते अपना धंधा बाहर करते हैं, लेकिन अपनी जन्मभूमि से भी लगाव बरकरार रखें। वे बोले, वर्ष में एक बार 5 दिनों के लिए आएं और अपने पूर्वजों को याद करें तथा अपनी जन्म भूमि के प्रति मोह बनाएं रखें। मधुर गायक महेशमुनिजी  ने कहा कि मानव जीवन अनमोल व दुर्लभ है। उन्होंने कहा कि सत्कर्मों के साथ ही जीवन को सार्थक बनाने का प्रयास करना चाहिए। इस अवसर पर सेवाभावी हरीश मुनि, मुकेश मुनि, नानेश् मुनि, हितेश मुनि व सचिन मुनि के साथ ही मरुधरा शिरोमणि महासती राजमतीजी म.सा. ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर देश के अनेक शहरों से आये गुरुभक्तों में माणक चंद बांठिया, विनोद बरडिया, मदनलाल कात्रेला, सरपंच भगवती दैवी, कवि कैलाश दान, राजेंद्र पोकरना, जेठमल वैष्णव, भूराराम मेवाड़ा, गणपतलाल सेन, निर्मल सिंह चावड़ा, शंकरलाल मेवाड़ा,  अशोक सेन, मोहनलाल सहित सोजत रोड से आये समाज  के अनेक लोग मौजूद थे, वहीं इस अवसर पर बेंगलुरु से भी भीकमचंद लुकड़, अशोक कोठारी, नेमीचंद सिंघवी, अशोक कात्रेला, महावीर मुथा, सुरेश मुथा, सुगनचंद देवडा, उत्तमचंद बाठिया, कन्हैयालाल, महावीर बरलोटा, महेंद्र देवड़ा व सुरेश कात्रेला आदि भी मौजूद रहे। संघ द्वारा आगन्तुक प्रवासी मेहमानों का शॉल ओढ़ाकर व माला पहनाकर हार्दिक अभिनंदन किया गया।