ALL राष्ट्रीय धार्मिक सामाजिक खेल
जरुरत पड़ी तो सात हजार संदिग्धों को आइसोलेशन में रखने की व्यवस्था- गौतम जिला कलेक्टर ने वीसी में मुख्यमंत्री को दी जानकारी
March 22, 2020 • SANJAY JOSHIY • राष्ट्रीय

 बीकानेर। जिला कलेक्टर कुमार पाल गौतम ने बताया कि बीकानेर में यदि जरूरत पड़ती है तो 7000 कोरोना संभावित व्यक्तियों को आइसोलेशन में में रखे जाने के पूर्ण बंदोबस्त कर लिए गए हैं ।साथ ही 31 मार्च तक प्रदेश में लॉक डाउन के दौरान गरीब और जरूरतमंद व्यक्ति को भोजन मिल जाए इसके भी पुख्ता बंदोबस्त किए गए। इसके लिए भामाशाह और स्वयंसेवी संस्थाओं से बातचीत कर संपूर्ण व्यवस्थाएं चाक-चौबंद कर ली गई है। उन्होंने बताया कि  सुखद बात यह है कि बीकानेर में अब तक एक भी व्यक्ति को कोरोना पॉजिटिव नहीं आया है । गौतम ने रविवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा प्रदेश के समस्त जिला कलेक्टरों के साथ ली गई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में यह जानकारी दी।
गौतम ने बताया कि सार्वजनिक स्थानों पर हैंड सैनिटाइजर लगाए जाने से आम लोगों में हाथ धोने और सैनिटाइजर का उपयोग करने का एक अच्छा संदेश गया है ।जिला मुख्यालय पर दो कंट्रोल रूम 24 घंटे कार्यरत हैं। साथ ही जिले में अब तक जितने भी पर्यटक अथवा शहर के निवासी जो कि दूसरे शहर या राज्य से आए हैं उन सब की स्क्रीनिंग की गई है
जिला कलेक्टर ने बताया कि सोमवार से शहर में सब्जी सहित अन्य आवश्यक सामान की आपूर्ति बाधित ना हो इसके लिए भी फल सब्जी मंडी के पदाधिकारियों से बातचीत कर ली गई है और उन्हें समझाइश की गई है कि वर्तमान में धारा 144 के तहत 5 से अधिक व्यक्ति एक नहीं हो सकते हैं ऐसे में सभी दुकानदार अपनी दुकानें इस तरह से रखे कि एक से दूसरी दुकान में डिस्टेंस रहे ।उन्होंने सब्जी मंडी एसोसिएशन के पदाधिकारियों से कहा कि वे सोमवार सुबह से ही यह समझाइश करें कि अधिक से अधिक सब्जी विक्रेता अपनी सब्जी ठेले के माध्यम से शहर के विभिन्न स्थानों पर डोर टू डोर बेचने का काम करें। उन्होंने कहा कि सब्जी मंडी में  थोक बिक्री का समय सुबह 5 से 10 बजे तक की रखें ।उन्होंने कहा कि फड बाजार में अधिकतर सब्जी विक्रेता ठेले पर ही भेजते हैं बेचते हैं तो यह सभी शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में सब्जी ठेले के माध्यम से ही बेचे। उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो शहर की फड बाजार डागा बिल्डिंग सहित प्रमुख जगह जहां सब्जियों की दुकानें हैं वहां ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि अल्टरनेटली दुकानदार अपनी दुकान खोलें ताकि एक ही जगह भीड़ एकत्रित ना हो और दुकानों के पास खुला स्थान रहे।
 जिला कलेक्टर ने बताया कि सभी उपखंड अधिकारियों और तहसीलदारों को निर्देश दिए गए हैं कि वे भी अपने अपने क्षेत्र में कंट्रोल रूम की स्थापना कर लें ।साथ ही सभी उपखंड क्षेत्रों में सामाजिक संस्थाएं ,दानदाताओं और जनप्रतिनिधियों से संपर्क स्थापित कर उनका भी सहयोग लिया जाए ताकि उपखंड और तहसील स्तर पर भी अगर किसी गरीब और जरूरतमंद व्यक्ति को भोजन की जरूरत हो तो उसे भोजन दिलाने में जनप्रतिनिधियों और दानदाताओं और सामाजिक संस्थाओं का सहयोग लिया जा सके।
आइसोलेशन के लिए भवन आदि देने की इच्छा रखने वाले लोग भी कार्यालय समय के दौरान जिला कलेक्टर कार्यालय में आकर अतिरिक्त जिला कलेक्टर प्रशासन से मिलकर अपना भवन दे सकते हैं। अगर कोई सामाजिक संस्था अथवा व्यक्ति अपना मकान या भवन इस मुश्किल घड़ी  के लिए देता है तो उसका स्वागत है ।भवन देने के लिए सोमवार दोपहर तक लिखित सूचना दे दे ताकि भवन में सभी साफ-सफाई और आवश्यक सुविधाएं सुसज्जित की जा सके।
 नगर निगम के रेन बसेरे का भी होगा उपयोग
जिला कलेक्टर ने बताया कि नगर निगम द्वारा शहर के विभिन्न स्थानों पर संचालित रैन बसेरों का उपयोग भी किया जाएगा। यहां ऐसे लोगों को चिन्हित करके रखा जाएगा जोकि आवास में नहीं रहते हैं अथवा जिनके लिए रहने की कोई व्यवस्था नहीं है और प्रतिदिन घूम कर काम कर अपना जीविकोपार्जन करते हैं । ऐसे लोगों को लॉक डाउन तक रैन बसेरों में रखा जाएगा, जहां उन्हें दोनों समय भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा।
राजीव गांधी सेवा केंद्र में आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में संभागीय आयुक्त सीएस श्रीमाली ,निरीक्षक पुलिस जोस मोहन, पुलिस अधीक्षक प्रदीप मोहन शर्मा, मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य, सुप्रिडेंट, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बी एल मीणा, अतिरिक्त संभागीय आयुक्त इंदीवर दुबे अतिरिक्त जिला कलेक्टर नगर सुनीता चौधरी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।