ALL राष्ट्रीय धार्मिक सामाजिक खेल
इंटरवेंशनल रेडियोलोजी पर लाइव वर्कशॉप का आयोजन
February 16, 2020 • SANJAY JOSHIY • राष्ट्रीय

बीकानेर। रेडिओडियगनोसिस विभाग सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज एवं फोर्टिस डीटीएम हॉस्पिटल के संयुक्त तत्त्वावधान में इंटरवेंशनल रेडियोलोजी पर लाइव वर्कशॉप का आयोजन किया गया। इस वर्कशॉप में टाटा मेमोरियल अस्पताल मुंबई के इंटरवेंशनल रेडियोलोजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ सूयश कुलकर्णी टाटा अस्पताल के ही डॉ अमोल नगवेकर व डॉ मनीष राजपूत तथा अनेक चिकित्सकों ने इंटरवेंशनल रेडियोलोजी पर अपने व्याख्यान दिए। साथ ही अनेक मरीजों का इलाज भी किया इलाज करने कि प्रक्रिया को कैथ लैब से दिखाते हुए सारी प्रक्रिया को समझाया तथा वहाँ बैठे सभी चिकित्सकों व रेसिडेंटो को इलाज कि विधि को समझाते हुए इस तरह के इलाज के विभिन्न आयामों पर खुल कर परिचर्चा की। कार्यक्रम संयोजक डॉ जी एल मीणा ने बताया कि इंटरवेंशनल रेडियोलोजी एक नयी तरह की इलाज की विधि है जिसमे बिना चीर फाड़ अनेक गंभीर बीमारियों का इलाज किया जाता है. इस विधि के प्रचार प्रसार से और अधिक चिकित्सक इसे सीख पाएंगे तथा लोगो की सेवा कर सकेंगे। टाटा मेमोरियल अस्पताल के विभागाध्यक्ष डॉ सुयश कुलकर्णी ने इस विधि के अलग-अलग बीमारियों के उपयोग के बारे में विस्तार से बताया तथा इस से ठीक होने वाले मरीजों का ब्यौरा दिया। आयोजन अध्यक्ष डॉ सानिया मुस्लिम ने सभी आगंतुकों का स्वागत किया तथा इस तकनीक के उपयोग पर प्रकाश डालते हुए इसे चिकित्सा क्षेत्र में क्रांति बताया। कार्यशाला में डॉ तनवीर मालावत, डॉ एच एस कस्वा, डॉ एलएन अग्रवाल, अस्थि रोग विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ बी एल खाजोटिया, बाल सर्जरी विभाग के विभागाध्यक्ष, डॉ गिरीश प्रभाकर, यूरोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ मुकेश आर्य, डॉ सुदेश अग्रवाल सहित अनेक विभागों के विभागाध्यक्ष व वरिष्ठ चिकित्सक मौजूद रहे तथा परिचर्चा में शामिल हुए। साथ ही देशभर से रेसिडेंटो एवं युवा चिकित्सको ने पूरे दिन बैठकर हो रहे इलाज को लाइव देखा। कैंसर, न्यूरोसर्जरी, अस्थि रोग, स्त्री रोग, मूत्र रोग आदि अनेक क्षेत्रों के करीब 10 मरीजों का इलाज कर राहत प्रदान की गयी।


3 साल से रीड की हड्डी में गाँठ से परेशान दौलत बानो का हुआ इलाज..

रीड की हड्डी के निचले हिस्से में बड़ी गाँठ लेकर अनेक चिकित्सको को दिखा चुकी सीकर की दौलत बानो 3 वर्षो से इस गाँठ से पीड़ित थी अनेक चिकित्सको को दिखने के बाद भी राहत नहीं मिली उनकी गाँठ में जा रहे रक्त प्रवाह को रोक कर उसकी गाँठ को बिना चीर फाड़ खत्म किया गया 3 साल से रीड की हड्डी में गाँठ से परेशान दौलत बानो का हुआ इलाज भामाशाह के तहत निशुल्क इलाज होने पर उसके पति व अन्य परिजनों ने ख़ुशी ज़ाहिर की।