ALL राष्ट्रीय धार्मिक सामाजिक खेल
'गन्स ऑफ बनारस' की यूनिट प्रमोशन के लिए आई बीकानेर, दिवंगत विनोद खन्ना को भी किया याद..
March 1, 2020 • SANJAY JOSHIY • राष्ट्रीय

बीकानेर। बॉलीवुड की हिन्दी फिल्म 'गन्स ऑफ बनारस' के प्रमोशन के लिए हीरो का किरदार निभा रहे करणनाथ, विलेन का रोल प्ले करने वाले दक्षिण फिल्मों के स्टार व हिन्दी फिल्म में डेब्यू करने वाले गणेश वेंकटरमन तथा अभिनेत्री नाथलिया कौर रविवार को बीकानेर में आए। श्रीगंगानगर रोड़ स्थित होटल बसंत बिहार पैलेस में आयोजित एक पत्रकार सम्मेलन में मीडिया से रुबरु हुए तीनों कलाकारों ने अनुभव साझा करते हुए बताया कि अपने किरदार में घूसने के लिए दोनों अभिनेता बनारस में 6 महीनों तक एकदम सस्ते होटल में रुके और शहर की पूरी गहन जानकारी ली। लोगों से आमजीवन कैसे व्यतीत करने को लेकर बातचीत की गयी। बॉलीवुड के सुपर स्टार रहे विनोद खन्ना को याद करते हुए अभिनेता वह करण ने कहा कि खन्ना ने उनके पिता का रोल प्ले किया है। उन्होंने कहा कि मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है कि मैंने उनके साथ काम किया। मेरे लिए यह खूबसूरत और इमोशनल एक्सपीरिएंस है। मैं भगवान के प्रति शुक्रगुजार हूं। उनके साथ काम करना एक सपना पूरा होने जैसा है। अब वह हमारे बीच नहीं हैं तो मैं उन्हें काफी मिस कर रहा हूं। अक्सर उनके साथ की गई बातों को याद करता हूं। उन्होंने मुझे जिंदगी के बारे में काफी कुछ सिखाया है। मैं उनका बहुत बड़ा फैन हूं और हमेशा रहूंगा। अनिल कपूर अभिनीत मिस्टर इंडिया में बाल कलाकार की भूमिका निभाने वाले करणनाथ यह भी बोले कि वर्तमान में सिनेमा दौर जरूर संघर्षों से गुजर रहा है और सोशल मीडिया ने सिनेमाघरों तक आम दर्शक की दूरी को जरूर कम कर दिया है। लेकिन हमारी ये फिल्म दर्शकों को सिनेमाघरों तक खीचने का काम जरुर करेगी। विलेन का रोल प्ले करने वाले साऊथ स्टार गणेश वेंकटरमन ने कहा कि इससे पहले मैंने टीवी और दक्षिण फिल्म उद्योग में काम किया है। यहां हर अभिनेता का बॉलीवुड में डेब्यू करने का सपना होता है। अभिनेत्री नाथलिया ने बताया कि उन्हें फिल्म में काम करने के लिए सबसे बड़ी चुनौती हिन्दी सीखने की रही, उनके मातृभाषा पुर्तगाली है जबकि वह एक पंजाबी लड़की बनी है इसलिए बनारस में रहकर लैंग्वेज सीखना पड़ा और लोगों के साथ बातचीत करनी पड़ी। पत्रकार सम्मेलन में फिल्म की निर्माता शाईना नाथ, रवि सोनी, अशोक धारणिया भी मौजूद थे।

भारी एक्शन और धमाके के साथ खुबसूरत प्रेम कहानी

बीते शुक्रवार को देशभर में 960 स्क्रींस पर रिलीज हुई बॉलीवुड मूवी 'गन्स ऑफ बनारस' जैसा फिल्म का नाम वैसे ही फिल्म गढ़ी गयी है। फिल्म में भारी एक्शन और धमाके के साथ एक खुबसूरत प्रेम कहानी पिरोयी गयी है जो आपके दिल को छू लेगी। फिल्म धनुष की तमिल नेशनल अवॉर्ड विनिंग फिल्म पोलावरम की हिंदी रीमेक है। 'ये दिल आशिकाना' के बाद एक्टर करन नाथ 10 साल के बाद बड़े पर्दे पर ऐसी धुंआधार वापसी कर चुके हैं कि हर जगह सिर्फ
गुड्डू शुक्ला (फिल्म के किरदार का नाम) के दबंग अंदाज की तारीफ  हो रही हैं। डायरेक्टर शेखर सूरी भी अपने डायरेक्शन का जलवा दिखाने में सक्षम रहे हैं । शेखर सूरी साउथ में काफी अपने डायरेक्शन का जलवा दिखाने में सक्षम रहे हैं। शेखर सूरी साऊथ में काफी फिल्मों का निर्देशन भी कर चुके हैं पर बॉलीवुड में उनकी पहली फिल्म है। फिल्म में बनारस का पूरा फ्लेवर देखने को मिलेगा। फिल्म के अन्य कलाकारों में शिल्पा शिरोड़कर, जरीना वहाब, सलीम बेग, मोहन आगाशे और तेज सप्रू भी हैं और दिवंगत विनोद खन्ना भी है। फिल्म को दशाखा फिल्म और ए जे मीडिया के तहत प्रस्तुत किया गया हैं।