ALL राष्ट्रीय धार्मिक सामाजिक खेल
भारत को विश्व गुरु बनाने में रहेगा विप्र फाउंडेशन का योगदान : नरेंद्र केशव सावईकर
January 25, 2020 • SANJAY JOSHIY • राष्ट्रीय

 


विफा जैसे संगठन राष्ट्रीयता की भूमिका का कर रहे निर्वहन : संजय वालवलकर

गोवा में विफा की 20वीं प्रांतीय इकाई का गठन व शपथ ग्रहण समारोह संपन्न

 गोवा। हजारों वर्ष पूर्व कोंकण काशी के नाम से पहचाने जाने वाले तथा ब्राम्हणों के पूर्वज-प्रेरणा पुरुष भगवान परशुरामजी द्वारा रचित कोंकण प्रान्त गोवा में  ब्राह्मण समाज के वैश्विक संगठन विप्र फाउंडेशन (विफा) की प्रदेश इकाई के विधिवत गठन के साथ शपथ ग्रहण समारोह शनिवार शाम को आयोजित हुआ। विश्व की प्राचीनतम संस्कृतियों वाले प्रदेश गोवा में विफ़ा की इस 20वीं प्रांतीय इकाई के गठन-शपथ ग्रहण समारोह में बतौर अतिथि दक्षिण गोवा के पूर्व सांसद एवं एनआरआई कमिश्नर एडवोकेट नरेंद्र केशव सावईकर व वरिष्ठ समाजसेवी संजय वालवलकर ने शिरकत की। कार्यक्रम में एमएन ओझा, त्रिनेश्वर द्विवेदी व विप्र फाउंडेशन के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य-मीडिया प्रभारी संजय जोशी भी मौजूद रहे। पणजी के यूथ हॉस्टल में हुए इस कार्यक्रम में विफ़ा की गोवा इकाई के प्रदेश अध्यक्ष निखिल शर्मा ने सभी का स्वागत किया। राजस्थान के शेखावाटी क्षेत्र झुंझुनू मूल के निखिल शर्मा ने अपनी कार्यकारिणी में महासचिव पद पर नारायण सिंह राजपुरोहित (पाली), उपाध्यक्षद्वय भंवरलाल रिणवा व राम कुमार दायमा, सचिव ओमप्रकाश द्विवेदी तथा कोषाध्यक्ष पद पर गोपीकिशन शर्मा का मनोनयन किया है। नवगठित इकाई के सभी पदाधिकारियों को अतिथि संजय वालवलकर ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। प्रदेश भर से बड़ी संख्या में जुटे विप्र जनों ने विप्र फाउंडेशन के राष्ट्रीय एकता, सामाजिक समरसता व स्वजातीय गतिशीलता के उद्देश्यों के तहत विविध क्रियाकलापों के प्रति भरोसा जताते हुए परस्पर सहयोग का संकल्प भी लिया। इस दौरान गोवा सरकार में राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त सावईकर ने कहा कि राष्ट्रीयता की भावना के साथ विप्र फाउंडेशन एक जिम्मेवारी पर कार्य कर रहा है। प्रदेश भाजपा महासचिव नरेंद्र केशव ने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब सर्व समाज सुधारक प्रकल्प के साथ विफ़ा का अमूल्य योगदान भारत को विश्व गुरु बनाने में अपनी महती भूमिका निभाएगा। संजय वालवलकर ने भी कहा कि ब्राह्मणवाद की बजाय ब्राह्मणत्व को बढ़ाना तथा उन्नत समाज-समर्थ राष्ट्र के उद्देश्य को लेकर क्रियाशील अंतराष्ट्रीय स्तर की संस्था विप्र फाउंडेशन जैसे देश में बहुत बड़ी ताकत के रूप में पहचान बना रही है। उन्होंने कहा कि विफ़ा जैसे संगठन की सक्रियता की वजह से ही राष्ट्रीयता बरकरार रहेगी। श्रीमती सुमन शर्मा ने दशाब्दी वर्ष में प्रवेश कर चुके विप्र फाउंडेशन द्वारा युवाओं में शिक्षा, संस्कार, रोजगार व परस्पर व्यावसायिक संबंधों के दृष्टिगत संस्कारोंदय व विप्र चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज (वीसीसीआई) की सुचारु अनेक गतिविधियों पर प्रकाश डाला। भगवान परशुरामजी के छायाचित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन एवं वंदे मातरम गान के साथ शुरू हुए कार्यक्रम का संचालन प्रदेश महासचिव नारायण सिंह राजपुरोहित ने किया। अतिथियों का साफा पहनाकर, शॉल ओढ़ाकर व मेमेंटो भेंटकर सत्कार किया गया।