ALL राष्ट्रीय धार्मिक सामाजिक खेल
सूर्यदत्ता का वार्षिकोत्सव 7 फरवरी को, डॉ. दत्तात्रय शेकटकर, डॉ. विकास आमटे, टोनिनो लॅम्बोर्गिनी, कमल टावरी, डॉ. रेणू राज, मकरंद जावडेकर, सुधा मल्होत्रा, द्वारका जालान को 'सुर्यदत्ता जीवनगौरव पुरस्कार’ घोषित
January 30, 2020 • SANJAY JOSHIY • राष्ट्रीय


सोमा घोष, अर्णब भट्टाचार्य, गोपिका वर्मा, नमिता कोहक, महेश नामपूरकर, राजेश बात्रा को मिलेगा ‘सूर्यदत्ता राष्ट्रीय पुरस्कार’

डॉ. विष्णूमहाराज पारनेरकरजी को ‘सुर्यरत्न आधुनिक युग के  संत पुरस्कार’

मिजोरम के राज्यपाल पीएस श्रीधरन पिल्लई, आचार्यश्री लोकेशमुनिजी, डॉ. भूषण पटवर्धन, रजा मुराद, मिलिंद कांबले रहेंगे अतिथि

 
पुणे। अंतराष्ट्रीय स्तर के शिक्षण प्रदाता समूह सुर्यदत्ता एज्युकेशन फाऊंडेशन के सुर्यदत्ता ग्रुप ऑफ इन्स्टिट्यूट की तरफ से दिए जानेवाले ‘सुर्यदत्ता जीवनगौरव पुरस्कार’ सहित विविध उत्कृष्ट श्रेणी के पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है। यह जानकारी सुर्यदत्ता ग्रुप ऑफ इन्स्टिट्यूट के संस्थापक-अध्यक्ष डॉ. संजय चोरडिया ने यहां आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी। इस अवसर पर संस्था के सलाहकार सचिन इटकर, निदेशक अक्षय कुशल, सिद्धांत चोरडिया, ऋचा जोशी भी उपस्थित थे। डॉ संजय ने बताया कि लेफ्ट. जनरल (सेवानिवृत्त) डॉ. दत्तात्रय शेकटकर (राष्ट्रसेवा), डॉ. विकास आमटे (वैद्यकीय सामाजिक सेवा), द्वारका जालान (साहित्य), टोनींनो लॅम्बोर्गिनी (अंतरराष्ट्रीय उद्योगपति), पद्मश्री सुधा मल्होत्रा (पार्श्वगायन), डॉ. मकरंद जावडेकर (कॉर्पोरेट), डॉ. कमल टावरी (खादी और समग्र विकास), मनोरंजन ब्यापारी (साहित्य), फरीद शेख (छायाचित्रण और पुराने  कॅमरो के संग्राहक), डॉ. रेणू राज (कायदा और न्यायव्यवस्था) इनको ‘सुर्यदत्ता जीवनगौरव पुरस्कार’ घोषित किया गया।
वहीं पद्मश्री सोमा घोष (भारतीय शास्त्रीय संगीत), डॉ. अर्णब भट्टाचार्य (शिक्षण आणि संशोधन), राजेश बत्रा (लोकसेवा), विमल बाफना (कॉर्पोरेट, सीएसआर), महेश नामपूरकर (स्थापत्यशास्त्र आरेखन), नमिता कोहक (शौर्य), निशा मिश्रा (विश्व उत्पत्तिशास्त्र), गोपिका वर्मा (नृत्यकला-मोहिनीअट्टम) को ‘सुर्यदत्ता राष्ट्रीय पुरस्कार’ घोषित किया गया। उन्होंने बताया कि इसी तरह डॉ. विष्णूजी महाराज पारनेरकरजी को ‘सुर्यरत्न आधुनिक युग के संत पुरस्कार’ देकर सन्मानित किया जायेगा। सन्मानचिन्ह, प्रमाणपत्र और उपरणे यह पुरस्कार का स्वरूप है। 
डॉ. संजय चोरडिया ने कहा, "यह पुरस्कार सूर्यदत्त एजुकेशन फाउंडेशन की वर्षगांठ पर प्रतिवर्ष दिये जाते  है, इस वर्ष पुरस्कारों का 18 वां वर्ष है। इन पुरस्कारों का वितरण शुक्रवार, 7 फरवरी को शाम 6  बजे सूर्यदत्त ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के बावधन कैम्पस में आयोजित किया गया है। जिसमें मिजोरम के राज्यपाल पीएस श्रीधरन पिल्लई मुख्य अतिथि के रूप में मान्यवरों को पुरस्कृत करेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक अध्यक्ष आचार्यश्री लोकेशमुनिजी करेंगे। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के उपाध्यक्ष भूषण पटवर्धन कीनोट स्पीकर के रूप में तथा दलित इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज (डिक्की) के अध्यक्ष मिलिंद कांबले और वरिष्ठ अभिनेता रजा मुराद विशेष अतिथि के रूप में मौजूद रहेंगे। डॉ संजय ने बताया कि यह पुरस्कार देश और दुनिया में विभिन्न क्षेत्रों में प्रतिष्ठित और सफल हस्तियों को दिया जाता है, जो सूर्यदत्त ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूट्स में चलाए जा रहे पाठ्यक्रमों के पूरक हैं। इस में  फॅशन डिझाईन, इंटेरियर डिझाईन, हॉस्पिटालिटी मॅनेजमेंट,खेल और स्वास्थ्य, बिझनेस मॅनेजमेंट, हेल्थ सायन्स, सोशल सायन्स, पब्लिक सर्व्हिस, सायन्स अ‍ॅन्ड टेक्नॉलॉजी क्षेत्रों में शामिल हैं। निस्वार्थ भावना से काम करने वाले सामाजिक क्षेत्र के व्यक्तियों को समाज के वंचित वर्गों के जीवन स्तर को ऊपर उठाने के लिए सम्मानित किया जाता है। यह माना जाता है कि इन व्यक्तियों का मार्गदर्शन शारीरिक और मानसिक कल्याण को बढ़ावा देने के लिए प्रेरणादायी होगा।" सचिन इटकर ने कहा, "पुरस्कार समारोह का उद्देश्य इन पुरस्कार विजेताओं द्वारा किए गए कार्यों का सम्मान करना है और अपने क्षेत्र में छात्रों को अपना काम करने के लिए प्रेरित करना है। इन गणमान्य व्यक्तियों को सूर्यदत्त समूह से जोड़ा गया है और छात्रों को उनका मार्गदर्शन मूल्यवान होगा। सूर्यदत्त समूह के छात्रों और शिक्षकों को निश्चित रूप से इन सफल और अनुकरणीय व्यक्तित्वों की सराहना और मार्गदर्शन से प्रेरित किया जाएगा।"